Home » Latest Stories » सफलता की कहानी » 1हज़ार के निवेश से शुरू किया अचार बनाने का बिज़नेस, 20 हज़ार कमा रहे मासिक आय

1हज़ार के निवेश से शुरू किया अचार बनाने का बिज़नेस, 20 हज़ार कमा रहे मासिक आय

by Mashuk Hasmi
122 views

श्री वर्धन की उद्यमशीलता की यात्रा वास्तव में प्रेरणादायक है। वर्धन को YouTube देखते समय, ffreedom app का एक विज्ञापन मिला, जिसमें होम मेड बिज़नेस शुरू करने के कोर्स आपके लिए उपलब्ध किए गए हैं। वर्धन विशेष रूप से पिकल मेकिंग बिज़नेस कोर्स के प्रति आकर्षित थे, क्योंकि उन्हें लगा कि इसमें लाभ की काफी संभावनाएं हैं। केवल एक हजार रुपये के छोटे से निवेश से, श्री वर्धन और उनकी पत्नी ने पांच अलग-अलग सब्जियों से अचार बनाने का प्रयोग शुरू किया।

उनके घर के बने अचार ने तेजी से लोकप्रियता हासिल की, ग्राहकों ने स्वादिष्ट स्वाद के बारे में प्रचार किया। उनकी सफलता से उत्साहित होकर, श्री वर्धन और उनकी पत्नी ने अपने अचार को नंदिनी होममेड अचार के रूप में ब्रांडिंग करना शुरू कर दिया और फूड लाइसेंस के लिए आवेदन किया।

अचार के व्यवसाय के अलावा, श्री वर्धन एक किराने की दुकान चलाते हैं और अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया जैसी जगहों की यात्रा करने वालों को शामिल करने के लिए अपने ग्राहक आधार का विस्तार किया है। उन्होंने अपनी कड़ी मेहनत और समर्पण के बलबूते अपनी सफलता हासिल की और अब वह हर महीने 20,000 रुपये की स्थिर आय अर्जित करते हैं।

श्री वर्धन, एक ग्रामीण उद्यमी, ने केवल 1000 रुपये के निवेश के साथ एक सफल पिकल बिज़नेस शुरू किया। अपनी पत्नी के थ्रिफ्ट सोसाइटी के अधिकारियों की मदद से, उन्होंने घर का बना अचार बनाना और बेचना शुरू किया, जिसने लोगों के बीच चर्चा के माध्यम से लोकप्रियता हासिल की। वह एक किराने की दुकान भी चलाते हैं और उन्हें विदेशों से ऑर्डर मिलते हैं। उनकी प्रेरक सफलता की कहानी ग्रामीण क्षेत्रों में छोटे पैमाने के व्यवसायों की क्षमता पर प्रकाश डालती है।

करीमनगर के श्री वर्धन ने YouTube पर एक विज्ञापन के माध्यम से ffreedom app के बारे में सीखा। उन्होंने अचार के व्यवसाय का कोर्स लिया और सीखा कि विभिन्न प्रकार के अचार कैसे बनाए जाते हैं, कैसे उन्हें बाजार में बेचा जाता है और कैसे लाभ कमाया जाता है। उन्होंने बिजनेस लोन, रजिस्ट्रेशन, डिमांड एंड सप्लाई और बिजनेस इम्पोर्ट और एक्सपोर्ट के बारे में भी जाना। कोर्स ने उन्हें अंडे और मछली के अचार में विशेषज्ञता हासिल करने में मदद की, और उन्होंने नींबू, इमली, आम, टमाटर, आंवला, नॉन-वेज चिकन, मटन, मछली और अंडे जैसे सभी कच्चे माल के लिए 5k का निवेश किया। नतीजतन, उन्होंने केवल तीन दिनों में 45,000 रुपये के अचार बेचे, और इसे सूक्ष्म उद्योग बनाने के लिए डीआरडीए से 25 लाख लोन की पेशकश भी की गई थी।

श्री वर्धन ने जिन कोर्स में भाग लिया, उसके माध्यम से उन्हें अचार व्यवसाय की व्यापक समझ प्राप्त हुई, जिसमें पैकेजिंग, बिक्री और ब्रांडिंग जैसे विभिन्न पहलू शामिल थे। वह अपने व्यवसाय का विस्तार करने और अधिक मुनाफा कमाने के लिए अर्जित ज्ञान को लागू करने में सक्षम थे। उन्होंने सब्जियों के प्रकारों के बारे में सीखा, जिनका उपयोग अचार बनाने के लिए किया जा सकता है, अचार का स्टॉक कैसे बनाए रखा जाए और ग्राहकों को प्रभावी ढंग से कैसे बाजार में आकर्षित किया जाए। कोर्स ने उन्हें खाद्य लाइसेंस के लिए आवेदन करने में भी मदद की, और अब वे “नंदिनी होम मेड अचार” के नाम से अपने अचार की ब्रांडिंग कर रहे हैं। श्री वर्धन का मानना है कि ffreedom app ग्रामीण लोगों के लिए एक उपयोगी मंच है जो अपना खुद का व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं और अतिरिक्त कोर्स के माध्यम से और अधिक सीखने के इच्छुक हैं।

व्यवसाय शुरू करना केवल पैसा कमाना नहीं है, यह कुछ ऐसा बनाने के बारे में है जिसे लोग पसंद करते हैं और इसे दुनिया के साथ साझा करते हैं।” – श्री वर्धन मंथरी, पिकल बिज़नेस के मालिक

श्री वर्धन मंथरी भारत के करीमनगर में स्थित एक 39 वर्षीय उद्यमी हैं। उन्होंने ffreedom app के माध्यम से अचार के कारोबार के बारे में जाना और अंडे और मछली के अचार में विशेषज्ञता हासिल की। उन्होंने कच्चे माल में 5,000 रुपये का निवेश किया और केवल तीन दिनों में 45,000 रुपये के अचार बेचने में सक्षम हो गए। उन्होंने अब अपने व्यवसाय का विस्तार किया है और सूक्ष्म उद्योग शुरू करने के लिए डीआरडीए से 25 लाख रुपये के ऋण की पेशकश भी की है।

वह शाकाहारी और मांसाहारी अचार दोनों पर ध्यान केंद्रित करते है, जिससे ग्राहकों को चुनने के लिए एक विस्तृत विविधता मिलती है, और वही वर्धन के व्यवसाय को प्रतिस्पर्धियों से अलग करता है। वह अपनी पत्नी के मितव्ययी समाज के माध्यम से अपने अचार बेचकर और गाँव और मंडल सांख्य बैठकों में उन्हें प्रदर्शित करके एक वफादार ग्राहक आधार बनाने में भी सक्षम रहे हैं।

वर्धन पिकल बिज़नेस के लिए अपने जुनून को एक सफल उद्यम में बदलने में सफल रहे हैं। उनकी उल्लेखनीय उपलब्धियों में उनके व्यवसाय को “नंदिनी होममेड अचार” के रूप में ब्रांड करना और फूड लाइसेंस के लिए आवेदन करना शामिल है। वह एक सफल किराने की दुकान भी चलाते हैं और उन्हें अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया में ग्राहकों से ऑर्डर भी मिले हैं। वर्धन की सफलता की कहानी “हर व्यक्ति को आजीविका कमाने की दिशा में सशक्त बनाने के लिए” एक जीवंत उदाहरण है, और यह ffreedom app के लक्ष्य को साफ दर्शाता है।

INR 20,000 प्रति माह के लाभ मार्जिन के साथ, वर्धन के व्यवसाय ने महत्वपूर्ण विकास क्षमता दिखाई है। ffreedom app ने विभिन्न प्रकार के व्यवसायों पर पाठ्यक्रम प्रदान करके तथा इच्छुक उद्यमियों के लिए व्यावहारिक ज्ञान प्रदान करके उनकी सफलता में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। 

जानिए श्री वर्धन की स्टोरी उनके इंटरव्यू के माध्यम से,  निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके वीडियो देखें – 

Related Posts

हमें खोजें

ffreedom.com,
Brigade Software Park,
Banashankari 2nd Stage,
Bengaluru, Karnataka - 560070

08069415400

contact@ffreedom.com

सदस्यता लेने के

नई पोस्ट के लिए मेरे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें। आइए अपडेट रहें!

© 2023 ffreedom.com (Suvision Holdings Private Limited), All Rights Reserved

Ffreedom App

फ्रीडम ऐप डाउनलोड करें, रेफरल कोड LIFE दर्ज करें और तुरंत पाएं ₹3000 का स्कॉलरशिप।